लक्ष्य और योजना कैसे बनाये? | How to Set Goals and Plans?

अपना लक्ष्य और योजना कैसे तय करें?

आज हम बात करेंगे एक ऐसे विषय पर जो आपके जीवन में बहुत महत्व रखता है। हर कोई अपने जीवन में कोइ न कोई लक्ष्य जरूर निर्धारित करता है परन्तु क्या आपने कभी ये सोचा है कि अपने निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए आपको क्या करना होगा? लक्ष्य प्राप्ति के लिए क्या निति बनानी होगी? इसी विषय पर हमने आपके लिए यह लेख लिखा है जो आपको अपने लक्ष्य की प्राप्ति में सहायता करेगा।

लघु और दीर्घकालिक दोनों लक्ष्यों के लिए रणनीति तैयार करना

यह महत्वपूर्ण है की सबसे पहले आप अपने लघु और दीर्घकालिक लक्ष्यों के लिए योजनाएं बनाये। योजना बनाने से आपको यह पता चलेगा कि आप दूर भविष्य में क्या करना चाहते हैं? आपकी योजनाएं 10, 15, 20 या अधिक वर्षों तक खिंच सकती हैं। ऐसे में अपने लक्ष्य से भटके बिना अपने जीवन काल के उतार चढाव से परे अपने लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आपको एक मार्ग मिल जाता है जो आपको आपके लक्ष्य तक पहुँचता है।
आपकी योजनाएं ऊर्जा का एक शक्तिशाली स्रोत बन जाती हैं और आपको हमेशा आपके लक्ष्य की ओर बढ़ने को प्रेरित करती रहती है।

योजना बनाने के लिए आप अपने व्यस्त कार्यक्रम में से समय निकाले और अपने छोटे और दीर्घकालिक लक्ष्यों को लिखे। इसका एक फायदा यह होगा कि यह आपको आपके ट्रैक पर बनाये रखेगा।

अपने लक्ष्यो का विवरण लिखे

ऐसा करने से आपको बाद में, आपके भविष्य में क्या करना है; यह स्पष्ट रूप से पता होगा। शुरू करने के लिए आपको अपने लक्ष्यों की पुष्टि करनी होगी। आपको विस्तार से सोचना चाहिए कि अपने लक्ष्य तक पहुंचने में आपके भविष्य के लिए चीजें कैसे अलग होंगी। उन अलग परिस्थितिओ में भी आप अपने लक्ष्य के मार्ग पर बने रहे इसके लिए आपको अभी से योजना बनानी होगी। आपको उस परिस्थिति में क्या करना है इसकी योजना बनाये और लिखे ताकि जब आप उन परिस्थितियों में हो तो अपने मार्ग से न भटके।

लक्ष्य तक कैसे पंहुचा जाए इसकी योजना बनाये 

अपने लक्ष्यों तक पहुँचने के लिए आप विस्तार से विचार करे। अपने उदेश्य को लिखे और उसकी योजना बनाये और विचार करे। आपको किन किन कठिनाईओ का सामना करना पड़ सकता है और उसे निपटने का क्या हल होगा इस पर विचार करे और योजना बनाये। हो सकता है कि आप भविष्य में आने वाली सभी सम्भावनाओ और कठिनाइयों को न सोच सके पर जितना आप सोच सकते है फिलहाल उतने की ही योजना बनाये।

नैतिकता और अनुशासन, मर्यादा, मन या स्‍वभाव पर नियंत्रण

जीवन के यह वे मूल्य/प्रिंसिपल या मानक हैं जो हम लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए निर्धारित करते हैं।

अपने लक्ष्य प्राप्ति की योजनना में आप इन्हे विस्तार से लिखे और तय करे कि इनका अनुपालन आप अवशय करेंगे क्योकि यदि आपके पास मूल्य नहीं है, तो अपने लक्ष्यों तक पहुंचना आपके लिए बहुत मुश्किल होगा। मूल्यों पर टिके रहने का आपको एक फायदा यह भी मिलेगा कि रस्ते में आने वाली बाधाओं को पार करने के लिए आप में आत्म विश्वास बना रहेगा।
लक्ष्य निर्धारित करना और उसकी योजना बनाना अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। तो तैयार हो जाइये अपने लक्ष्यो को हासिल कररने के लिए।
— By Gaurav Joshi

Leave a Comment